Pyaar Kya Hota Hai – लव की परिभाषा

Pyaar Kya Hota Hai: आप में से सभी लोगों ने कभी ना कभी किसी ना किसी से तो प्यार किया ही होगा और आप सभी लोगों ने लव वाली फीलिंग तो अवश्य ही की होगी। आप में से बहुत से लोग ऐसे होंगे जिन्होंने प्यार में पड़कर दिन में ही सपने देखने लगते हैं। किसी भी व्यक्ति को जब एक बार प्यार हो जाता है, तो वह व्यक्ति अपने सपनों को किसी और व्यक्ति के साथ शेयर करना चाहता है। वह व्यक्ति अपने सपनों को दूसरे के साथ इसलिए शेयर करना चाहता है, ताकि उसे वही बात बार-बार कहने में काफी खुशी मिलती है। आप सभी लोगों ने भी कभी ना कभी अपने जीवन में किसी को तो पसंद किया ही होगा, परंतु क्या वह सच में प्यार है या फिर कोई अट्रैक्शन।

आज हम आप सभी लोगों को अपने इस महत्वपूर्ण लेख के माध्यम से बताने वाले हैं, कि प्यार क्या होता है? (What is love) प्यार कितने प्रकार का होता है? (Type of love) सच्चे प्यार की कौन-कौन सी निशानियां होती हैं इत्यादि। आज हम सभी लोग अपने सपनों की दुनिया वाले प्यार अर्थात मोहब्बत और वास्तविक प्यार के मध्य अंतर जानेंगे। इतना ही नहीं इसके साथ साथ हम सभी लोग यह भी जानेंगे की हमारा प्यार सच्चा है या फिर कोई अट्रैक्शन। आप सभी लोग हमारे इस लेख को पढ़ने के लिए काफी इच्छुक होंगे, तो चलिए हम आपकी बेसब्री को खत्म करते हुए चलते हैं अपने लेख की तरफ और जानते हैं, प्यार मोहब्बत के बारे में।

Pyaar Kya Hota Hai – लव की परिभाषा

प्यार एक ऐसा शब्द होता है, जिसे परिभाषित करना बहुत ही मुश्किल है। परिभाषित करना ही नहीं बल्कि प्यार को मापना और समझना भी उतना ही ज्यादा मुश्किल है, जितना कि प्यार को परिभाषित करना। प्यार एक ऐसा एहसास होता है, जो कि प्रेमियों के दिल में ऐसी इच्छाएं, आकांक्षाएं और चाहत पैदा कर देता है जिससे वह व्यक्ति सदैव अपने प्रेमिका की या प्रेमी के ख्यालों में खोया हुआ रहता है।

प्यार दुनिया का सबसे अनोखा रिश्ता होता है। प्यार में सदैव लोगों का दिल एक दूसरे से सदैव के लिए जुड़ जाता है। आप सभी लोग इस छोटे से शब्द प्यार को बहुत ही गहराई से अपने दिलों में सजाकर रखते हैं। हालांकि प्यार को एक दूसरे के सामने बयां करने का एक दूसरा शब्द I Love You बहुत ही छोटा सा वाक्य है, परंतु यह अपने अंदर समुद्रों से भी गहरा और इस ब्रह्मांड से भी ऊंचाई जितना प्यार सजाए हुए होता है।

जो प्यार केवल शारीरिक संबंधों तक ही सीमित रहता है, उसे प्यार कहलाने का कोई हक नहीं है। प्यार तो वह एहसास होता है, जिसे लोग अपने जीवन में सजो कर अपने प्रेमी के याद में अपना पूरा जीवन व्यतीत कर देते हैं। प्यार को परिभाषित करना इतना आसान नहीं है, जितना कि लोग समझते हैं। प्यार एक ऐसी चीज होती है, जो व्यक्ति को कल्पनाशील बना देती है, अर्थात वह व्यक्ति सदैव अपनी कल्पनाओं में ही खोया रहता है।

यदि आप कभी अलग-अलग व्यक्तियों से प्यार के विषय में पूछेंगे, तो उन सभी व्यक्तियों के द्वारा प्यार के विषय में अलग-अलग बातें बताई जाएंगी। प्यार को लेकर ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि सभी व्यक्ति के जीवन में प्यार की अलग-अलग परिभाषा होती है, जैसे कि कोई अपने देश से प्यार करता है, कोई अपने माता-पिता से कोई अपने भाई बहन से और कोई अपने प्रेमी या प्रेमिका से। यही कारण है, कि सभी व्यक्ति आप सभी लोगों को प्यार की अलग-अलग परिभाषाएं बताएंगे।

कृष्ण के अनुसार प्रेम क्या है

यदि जब कभी भी प्रेम की बात आती है, तो उसमें भगवान श्री कृष्ण का नाम सर्वोपरि आता है, क्योंकि इन्होंने ही प्रेम की परिभाषा को लोगों को समझाया था। भगवान श्री कृष्ण की कथा अनुसार “प्रेम दो व्यक्तियों के बीच का एक ऐसा धागा है, जिसके माध्यम से वह दोनों ही व्यक्ति एक दूसरे से सदैव सदैव के लिए जुड़ जाते हैं और उन दोनों के एक साथ एक दूसरे के दिलों से जुड़े हुए होते हैं।”

ऐसा भी कहा गया है, कि “प्यार का अर्थ यह नहीं होता है, कि प्यार करने के बाद आप विवाह ही करें प्यार एक ऐसा एहसास होता है, जिससे वह दोनों ही व्यक्ति एक दूसरे के लिए सदैव सदैव के लिए जुड़ जाते हैं। प्यार एक ऐसा एहसास होता है जिससे दोनों ही व्यक्ति का दिल एक दूसरे के साथ जुड़ जाता है ना कि उनका शरीर।”

अनेकों शास्त्रों के अनुसार जब भगवान श्री कृष्ण ने राधा से अलग होते हुए यह कहा था, कि “प्रेम का अर्थ यह नहीं है, कि हम एक दूसरे से विवाह करें बल्कि प्रेम का अर्थ क्या होता है एक व्यक्ति का दूसरे व्यक्ति से दिल से जुड़ाव” जो कि भगवान श्री कृष्ण और देवी राधा के बीच में अब भी कायम है। तभी से भगवान श्री कृष्ण और देवी राधा के प्रेम का वर्णन संपूर्ण विश्व में विख्यात है और भगवान श्री कृष्ण की पत्नी रुक्मणी से ज्यादा लोग राधे कृष्ण कहना पसंद करते हैं।

प्यार के प्रकार

प्यार एक ऐसी फीलिंग होती है, जिससे व्यक्ति सदैव खुद को भरा भरा महसूस करता है। प्यार एक ऐसा एहसास है, जो कि कभी भी और किसी भी उम्र हो सकता है, चाहे आप छोटे हो या बड़े। ऐसा भी कहा जाता है, कि प्यार यदि किसी अच्छे इंसान से हो जाए तो उस इंसान की जिंदगी संवर जाती है और यदि वही प्यार किसी ऐसे इंसान से हो जाए जो कि केवल शारीरिक संबंधों के लिए अपने प्रेमी या प्रेमिका का उपयोग करता है, तो वह कभी भी प्यार नहीं होता। ऐसे प्यार से व्यक्ति की जिंदगी तक बर्बाद हो सकती है। प्यार के बहुत से रूप होते हैं, जिनके विषय में नीचे ने लिखित रूप से बताया गया है;

  1. लस्ट फुल प्यार: यह एक ऐसा प्यार होता है, जिसमें लोग सिर्फ और सिर्फ अपने शरीर की भूख को मिटाने के लिए प्यार करते हैं और शरीर की भूख मिट जाने पर एक दूसरे का त्याग कर देते हैं। Lवर्तमान समय में ज्यादातर लड़कों को लस्ट फुल लव ही होता है। ज्यादातर लोग चाहते हैं, कि इसी के साथ शारीरिक संबंध बनाए और फिर उस व्यक्ति को छोड़ दिया जाए। यदि कोई भी आपके साथ ऐसा करता है, तो आपको यह समझ जाना चाहिए, कि वह सच्चा प्यार नहीं बल्कि लस्ट फुल प्यार है।
  2. एक तरफा प्यार: यह एक ऐसा प्यार होता है, जिसमें आप अपनी तरफ से किसी को बहुत ही ज्यादा प्यार करते हैं, परंतु दूसरे व्यक्ति को उस व्यक्ति के प्यार की कोई भी कदर नहीं होती। यदि दोनों ही व्यक्ति एक दूसरे से प्यार करते हैं, परंतु वह एक दूसरे से यह बात कह नहीं पाते तो वह दोनों भी यही समझते हैं, कि उन दोनों के मध्य एक तरफा प्यार है, अतः इसी गलतफहमी के बीच उनका प्यार एक तरफा ही रह जाता है। एक तरफा प्यार को खतरनाक प्यार इसीलिए कहा गया है, क्योंकि वह व्यक्ति आपकी कोई भी कदर नहीं करता और आप आपका प्यार आपका जुनून बन जाता है और आप इसी बीच कुछ कर बैठते हैं और तब उस व्यक्ति को यह समझ आता है, कि आप उससे कितना प्यार करते थे।
  3. सच्चा प्यार: यदि आपको किसी व्यक्ति के लिए अपने मन में कोई विशेष फीलिंग है, तो इसका अर्थ है, कि आप उस व्यक्ति से प्यार करते हैं। “यदि दो लोगों के बीच बिना किसी मतलब के प्यार होता है, तो इसी प्यार को सच्चा वाला प्यार कहते हैं।” अक्सर फिल्मों में दिखाया जाता है, कि फिल्म का नायक नायिका से सच्चा प्यार करता है और बहुत जल्द ही विवाह करता है, परंतु हम सभी लोग जानते हैं, यह सीन पूर्ण रूप से फिल्मी होता है, परंतु अगर आपको सच में किसी व्यक्ति से सच्चा प्यार हो गया है, तो आप दोनों के मध्य किसी भी सौदेबाजी का आना उचित नहीं है।
  4. कभी ना मिलने वाला प्यार: बहुत सी लड़कियां एवं लड़के ऐसे होंगे, जिन्हें सेलिब्रिटी से प्यार होगा। एक ऐसे ही आप में से किसी ना किसी को तो किसी ऐसे इंसान से प्यार हुआ होगा, जो आपको कभी भी नहीं मिल सकता। यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति से प्यार करते हैं, जो आपको कभी भी नहीं मिल सकता, तो ऐसे प्यार को एक तरफा प्यार की कैटेगरी में ही रखा गया है, परंतु इसे कभी ना मिलने वाला प्यार कहा जाता है। 
  5. खुद से प्यार: कुछ ऐसे लोग भी होते हैं, जिन्हें किसी दूसरे व्यक्ति से नहीं बल्कि खुद से ही प्यार करते होंगे। यदि आप खुद से प्यार करना चाहते हैं तो आपको स्वयं को अच्छी तरह से समझना होगा और अपनी अच्छाइयों एवं कमियों को अच्छे से समझने के बाद आप खुद को परफेक्ट बनाने के लिए प्रयास कर सकते हैं और आप जब अपने स्वयं के अंदर ही कमियां ढूंढना शुरू कर देंगे, तो आपका आपके शरीर से लगाओ बढ़ जाएगा और यही ऐसा प्यार होता है, जिसे खुद से प्यार का नाम दिया गया है।

यह भी पढ़ें

प्यार होने का संकेत

  • आप कहां जा रहे हैं और आपको केवल उसी व्यक्ति का ख्याल आए, जिसे आप बहुत ही ज्यादा प्यार करते हैं, तो एक सच्चा प्यार होने की निशानी होता है।
  • यदि आपको वह शक्स जो अनेकों बुराइयां करता है, अनेकों बचकानी हरकतें करता है, परंतु आपको उसकी सभी हरकतें अच्छी लगती हैं, तो वह भी एक सच्चे प्यार की निशानी है।
  • यदि कभी आपके साथ ऐसा हो कि आप जिससे प्यार करते हैं, वह दुखी में हो और उसे देखने पर आप भी दुखी हो जाएं तो यह भी एक सच्चे प्यार का ही संकेत है।
  • एक सच्चे प्यार का संकेत यह भी है, कि आप अपने प्रेमी के साथ हैं और उसके साथ पब्लिक प्लेस पर ही उसे प्रपोज कर दे और ऐसा करते समय आप अपने आसपास के लोगों को भूल जाएं।
  • यदि आपके प्रेमी को आपके कुछ सबसे पसंदीदा चीज की कुर्बानी देनी पड़े और उस व्यक्ति को खुशी हो और आप उस चीज की कुर्बानी दे देते हैं, तो यह भी एक सच्चे प्यार का ही संकेत होती है।
  • यदि आप कहीं भी जाते हैं और अकेले हैं तो आपको अच्छा नहीं लगता और आप अकेले होने पर सदैव किसी ऐसे व्यक्ति का के ख्यालों में खो जाते हैं जिसे आप काफी पसंद करते हैं, तो यह भी एक सच्चे प्यार होने की निशानी होती है।
  • यदि कभी आपने अपनी गर्लफ्रेंड से यह पूछा कि हम शादी कब कर रहे हैं, तो यह एक सच्चे प्यार की निशानी होती है।

प्यार की हमारे जीवन में वैल्यू

किसी भी व्यक्ति के जीवन में प्यार का बहुत ही बड़ा महत्व होता है। यदि किसी व्यक्ति को प्यार हो जाता है, तो वह सदैव अपने प्रेमी के ख्वाबों में खोया रहता है। आप सदैव अपने प्रेमी के साथ रहते हैं और इसीलिए यदि आप कभी कहीं अकेले जाते हैं, तो आपका मन नहीं लगता और आप तुरंत ही वहां से चले आते हैं, परंतु यदि आप उसी स्थान पर अपने प्रेमी के साथ जाते हैं, तो आपका मन वहां पर इतना ज्यादा लगता है, कि आपको वापस आने का फिर मन ही नहीं करता।

प्यार का अर्थ सिर्फ दो जिस्मो का मिलना ही नहीं होता बल्कि जब प्यार आंखों से होकर दिल तक पहुंच जाता है, तो जिंदगी में एक सच्चा आनंद प्राप्त होता है, ऐसा प्यार सार्थक प्यार कहलाता है। यदि आपको कभी भी एक आनंदमई सच्चा प्यार हो जाता है, तो आप का जीवन आपको बहुत ही अच्छा लगना लगता है और आप सदैव उस व्यक्ति के तरफ अट्रैक्ट रहते हैं और सदैव उस व्यक्ति के ख्यालों में खोए हुए रहते हैं।

हमारे जीवन में प्यार का सबसे बड़ा महत्व तब समझ में आता है, जब हम अपने किसी भी सुख दुख को अपने प्रेमी या प्रेमिका के साथ बैठते हैं। हम अपने प्रेमी या प्रेमिका से वह सभी बातें कर सकते हैं, जो हम किसी भी व्यक्ति से नहीं कर पाते। हम अपने जीवन की सभी छोटी से बड़ी बात एक दूसरे के साथ शेयर करना काफी पसंद करते हैं और सदैव एक दूसरे की खुशी के बारे में सोचते हैं। हमारे जीवन में प्यार की सबसे बड़ी वैल्यू यही होती है।

प्यार को निभाने के तरीके

हम सभी लोग अपने जीवन में कभी ना कभी तो प्यार किया ही होगा और हमारा प्यार ज्यादा लंबे समय तक नहीं टिक पाता जैसा की आप सभी लोगों ने इस सेलिब्रिटीज के लव स्टोरी के बारे में सुना होगा। बहुत सी ऐसी सेलिब्रिटीज है, जिन्होंने अपनी रियल लाइफ में कई बार रिलेशनशिप में रहे, परंतु रिलेशनशिप में रहने के बाद कुछ ही ऐसे हुए जिन्होंने विवाह किया अन्यथा लोगों के बीच का संबंध टूट गया। यदि आप प्यार को निभाने के टिप्स जानना चाहते हैं, तो नीचे निम्नलिखित जानकारी को पढ़े।

  • आप सभी लोगों को प्यार को लंबे समय तक अर्थात अपने संपूर्ण जीवन भर में सजाए रखना है, तो आप सभी लोगों को एक दूसरे का सम्मान करना चाहिए।
  • आप में से किसी भी व्यक्ति को अपने प्रेमी या प्रेमिका को कभी भी नीचा नहीं दिखाना चाहिए, सदैव उनके साथ प्रेम पूर्वक बातें करनी चाहिए।
  • लोग अपने प्रेमी या प्रेमिका को नीचा तभी दिखाते हैं, जब उनका प्यार मात्र पैसों तक के लिए होता है। आपने बहुत से ऐसे केसेज देखे होंगे, जहां पर प्रेमी अपनी प्रेमिका को पैसों के लिए ही छोड़ देता है।
  • यदि आपको अपने प्यार को लंबे समय तक संभाल कर रखना है, तो आपको अपने प्रेमी से सदैव अपने जीवन में घटित हो रही सारी चीजों को बताना चाहिए।
  • प्यार को लंबे समय तक निभाने के लिए प्यार के मिशाल लैला मजनू हीर रांझा इन लोगों के प्यार करने की तरीके को फॉलो करना चाहिए।

कठिन समय में प्यार को संभालने के बेस्ट टिप्स

सभी लोग जानते हैं, कि जहां पर प्यार होता है, वहीं पर टकरार भी होती है, आपको अपने रिलेशनशिप के रिश्ते को ऐसा बना कर रखना है, कि आपके पार्टनर और आपके मध्य कभी भी कोई दूरी उत्पन्न ना हो। अब हम जानेंगे कुछ ऐसे ही टिप्स जिसके माध्यम से आप अपने कठिन समय में भी अपने प्यार को संभाले रख सकते हैं;

  • अपने रिलेशनशिप को कठिन समय में भी संभालने के लिए आपको सदैव अपने पार्टनर के लिए टाइम निकालना पड़ेगा और आपको अपने जीवन का सारा काम एक टाइम सेड्यूल के माध्यम से करना चाहिए, जिससे कि आपके कठिन समय में भी आपके पार्टनर के लिए आपके पास उचित समय रहेगा और आप उसको उचित समय देकर अपने रिलेशनशिप को कठिन समय में भी संभाले रख सकते हैं।
  • आप सभी लोगों को अपने प्यार को और लंबे समय तक संभाल कर रखने के लिए ईमानदार बनना चाहिए अर्थात उदाहरण के तौर पर यदि आप किसी पार्टी में जा रहे हैं, तो आप अपने पार्टनर से ऐसा कहते हैं, कि मेरी एक मीटिंग है मैं मीटिंग में जा रहा हूं। अतः जब आपके पार्टनर को आप की सच्चाई पता चलेगी, तब आपका प्यार टूट सकता है और इसीलिए अपने प्यार को संभालने रखने के लिए आपको अपने पार्टनर से कभी भी झूठ नहीं बोलना चाहिए।
  • यदि आपका और आपके पार्टनर का रास्ता अलग अलग है, फिर भी आप एक दूसरे से प्यार करते हैं, तो आपको एक दूसरे के साथ चिपकू स्वभाव का नहीं होना चाहिए, क्योंकि यदि आप कभी भी एक दूसरे से दूर जाते हैं, तो आप एक दूसरे के बिना भी खुश रहें। इसलिए आपको अपने प्यार को मैनेज करने के लिए अच्छे से एवं एक दूसरे के साथ अच्छे से व्यवहार करना चाहिए और डेली बात भी करना चाहिए।
  • आप दोनों ही पार्टनर को अपने प्यार को बरकरार रखने के लिए सदैव एक दूसरे से अपने रोमांस को बनाए रखना चाहिए। यदि आप कभी भी अपने पार्टनर से दूर होते हैं, तो आपको सदैव फोन पर उससे बातें करनी ही चाहिए।
  • यदि आप दोनों ही एक दूसरे से दूर रहते हैं तो आपको एक निश्चित दिन तय कर लेना चाहिए और एक दूसरे से उस दिन पर जाकर मिलना चाहिए, जिससे कि आपके रिलेशनशिप में काफी अच्छा प्यार देखने को मिलेगा और आप दोनों ही एक दूसरे से सदैव खुश रहेंगे।
प्यार क्या है?

निष्कर्ष

आज हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को pyaar kya hota hai इसके बारे में विस्तार पूर्वक पर जानकारी प्रदान की है और साथ ही में आज के इस विषय से अतिरिक्त भी हमने आपको कुछ एडवांस टिप्स दिए हैं। हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपके लिए काफी हेल्पफुल रही होगी। 

अगर आपके मन में कोई भी सवाल है या फिर आप भी अपने विचारों को इस विषय से संबंधित हम तक पहुंचाना चाहते हैं, तो इसके लिए आप कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। आर्टिकल पसंद आने पर आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और साथ ही अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर भी शेयर करना ना भूले। यहां तक लेख पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। 

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap