मन को शांत कैसे रखे – (10 तरीको) से अशांत मन को शांत करना सीखे

दोस्तों मनुष्य का मन बहुत ही मन चंचल और कोमल होता है। मनुष्य के मन को खुद पर कंट्रोल करना आसान नहीं है इतना ही नहीं खुद को बदलना भी आसान नहीं होता है। कभी भी किसी भी परिस्थिति में हमारा मन विचलित हो सकता है। अगर आप चाहते हो कि आपका मन शांत रहे और कभी भी आप अशांत ना महसूस करें तो ऐसे में आपको Man Ko Shant Kaise Rakhe आज के इस लेख को पूरा पढ़ना होगा।

अगर आपका मन शांत रहेगा तो आप किसी भी परिस्थिति में कुछ हो काबू में रख सकते हो और परिस्थिति के अनुसार अपने मन और मस्तिष्क की सहायता से सही लेना ले सकते हो। जब मन शांत होता है तो हमारे मस्तिष्क भी कहीं से कार्य करता है और हम सभी सही वक्त पर कोई निर्णय ले पाते हैं।

यहां पर हमने मन को शांत रखने के प्रैक्टिकली तरीकों के बारे में बताया हुआ है मतलब यह तरीके अगर आप वास्तव में करोगे तो आप अपने मन को शांत रखने में सफल हो। मन को शांत रखने से संबंधित आवश्यक टिप्स के बारे में जानने के लिए लेख में दी गई जानकारी को ध्यान से और पूरा अवश्य पढ़ें तभी आपको मन शांत रखने से संबंधित जानकारी समझ में आएगी।

मन शांत कैसे रखे 

मन को शांत रखना सबसे कठिन कार्य है परंतु आप सुबह जल्दी उठकर, हमेशा खुश रहे कर, पॉजिटिव थिंकिंग रखकर, ज्यादा चिंता ना कर के, प्रकृति से जुड़कर और अकेले में खुद को पहचानने की अगर कोशिश करोगे तो इन तरीकों के जरिए आप अपने मन को शांत रख पाओगे।

आपने देखा होगा या महसूस किया होगा जब हमारे सामने कोई विचलित कर देने वाली अचानक से परिस्थिति उत्पन्न होती है तो हम अपने मन को शांत नहीं रख पाते है और ना ही अपने मस्तिक से कुछ सोच पाते है। अगर आपने उस परिस्थिति में खुद के मन पर काबू पा लिया और उसे शांत रखा तो आप सोचना एवं समझने की क्षमता भी रखोगे। 

और सही वक्त पर कोई महत्वपूर्ण निर्णय भी ले पाओगे। तो चलिए नीचे और भी मन को शांत रखने के कारगर तरीकों के बारे में जान लेते है और आप नीचे दी गई जानकारी को बिल्कुल भी मिस ना करें और 1-1 हेडिंग को ध्यान से पढ़ें ताकि आपको हमारी यह जानकारी समझ में आ सके और आपके लिए हेल्पफुल साबित हो सके।

1. प्रातः काल उठे 

सूर्योदय से पहले का समय ब्रह्म मुहूर्त कहलाता है जो लोग ब्रह्म मुहूर्ता  मै जाग जाते है उनका मन शांत रहता है वह शारीरिक रूप से स्वस्थ रहते है और साथ ही में प्राकृतिक से भी जुड़ सकते है जिससे कि आपका मन शांत रहेगा। प्रातः में उठने से आपको दिक्कत होगी इसके लिए दोस्तों आप 1से 2 दिन अलार्म का इस्तेमाल करें फिर आपकी आदत बन जाएगी और आप सुबह में उठ पाओगे जिससे आपका मन शांत रहेगा।

2. हमेशा खुश रहे

दोस्तों अगर आप खुश नहीं है तो आप बहुत ही बड़े समस्या में पड़े हुए हो क्योंकि दुनिया उस इंसान को पसंद करती है जो हंसमुख होता है अगर आप कोई भी कार्य कर रहे हो तो आपको उस काम को खुशी मन से करें इससे आपका मन भी शांत रहेगा और आपका काम करने में मन भी लगेगा। कहते है ना जो काम चिल्ला कर या लड़ झगड़ कर नहीं हो सकता उसे शांत मन से और खुशी दिल से करने पर आसानी से किया जा सकता हैं।

यह भी पढ़ें

3. पॉजिटिव थिंकिंग रखे

दोस्तों सकारात्मक सोच में वह क्षमता होती है जो आप को अंदर से मजबूत बनाती है और आप वह काम करने के लिए योग बन जाते है जो आपने कभी सोचा ही नहीं होगा कि आप के जरिए यह काम पूरा भी हो सकता है। इसीलिए। 

अगर आपको अपने मन को शांत रखना है तो सबसे पहले पॉजिटिव थिंकिंग बनाइए कि आपका मन शांत है और आप अपने मन को शांत करने में सफल हो आप अपने मन को जैसे चाहो वैसे समझा सकते हो। ऐसी सोच रख कर आप अपने मन को आसानी से एवं सरलता से शांत रख सकते हो। 

4. ओवरथिंकिंग ना करे

दोस्तों अगर आप किसी चीज के बारे में ज्यादा से ज्यादा सोचोगे तो वह आपके लिए चिंता का विषय अपने आप ही बन जाएगा। यह हमारा कहना नहीं बल्कि कई बड़े शोधकर्ताओं का भी कहना है। इंसान जिस चीज के बारे में ज्यादा सोचता हैं।

उसका मन उस चीज को लेकर काफी विचलित हो जाता है और ना चाह कर भी वह उस ओवरथिंकिंग से दूर नहीं हो पाता। इसीलिए जितनी आवश्यकता है बस उतना ही सोचें और उस पर ज्यादा सोचने की श्रेष्ठा भी ना करें क्योंकि यह आपके मन को अशांत कर सकता हैं।

5. नेचर से जुड़े

दोस्तों मन को शांत रखने के लिए आप को प्राकृतिक चीजों से भी जुड़े रहना चाहिए क्योंकि दोस्तों आपने ऐसा देखा या आपके साथ ऐसा हुआ भी होगा जब आपका मन बिगड़ा हुआ रहता है तब आप कहीं प्राकृतिक जगहों पर घूमने जाते हो तो आपके मन को कुछ देर बाद शांति मिल जाती हैं।

अगर आपको अपने मन को शांत करना सीखना है तो आप रोजाना प्रकृतिक से बड़ी पूर्ण जगहों पर जाकर अपना थोड़ा समय व्यतीत करें और प्रकृति की चीजों को देखें एवं उस पर अपने विचार प्रकट करें। जब आप प्रकृति के बारे में सोचोगे तो अपने आप ही आपको अंदर से शांति मिलेगी और आपका मन धीरे-धीरे शांत रहने लगेगा। मन को शांत रखने के लिए आपको प्रकृतिक से अच्छा कोई और तरीका नहीं मिल सकता।

यह भी पढ़ें

6. अकेले रहना पसंद करे

अब आप सोचोगे कि अकेले में रहकर तो हम बोर हो जाएंगे और हमें अच्छा भी नहीं लगेगा माना कि आपकी बात बिल्कुल सही है परंतु हम आपको एक बात जरूर बताना चाहेंगे जो लोग अकेले में रहते है वह लोग अपने लक्ष्यों के बारे में आसानी से और गंभीरता से सोच पाते हैं।

यहां पर आपको अपना मन शांत रखना है इसीलिए आपका लक्ष्य मन को शांत करने का है और आप अकेले में खुद के अंदर झांकने की कोशिश करें और देखें कि आप अशांत क्यों रहते हो और आपके अंदर ऐसी क्या बात है जो आप को अशांत रख रही है। अपने आप को पहचानने की कोशिश करें। हम यहां पर आपको ज्यादा समय तक अकेले रहने के लिए नहीं कह रहे है बल्कि आपको थोड़ा बहुत समय अकेले में जरूर व्यतीत करना चाहिए।

7. योगा अभ्यास करे

आपने सुना होगा कि ‘योगा से होगा’ अगर आपने यह सुना है तो आपने बिल्कुल सही सुना है। जहां योगा करने से हमारी शारीरिक समस्याओं को बीमारियों से निजात मिलता है वही मन को शांत रखने के लिए भी योगा काफी लाभदायक हैं।

मन को शांत रखने के लिए नियमित रूप से योगासन करें। आप गूगल पर और इंटरनेट पर मन को शांत रखने के अनेकों योगासन के बारे में सीख सकते हो और उन योगासन को करके अपने मन को शांत रख सकते हो। जो चीज मनुष्य या फिर डॉक्टर नहीं कर सकता है आजकल योगा से उन सभी चीजों को आसानी से किया जा सकता हैं।

8. रिलैक्सिंग सॉन्ग सुने 

दोस्तों अगर आपको गाना सुनना पसंद है तो आपको इंटरनेट पर रिलैक्सिंग सॉन्ग मिल जाएगा और आप अपने खाली समय में रिलैक्सिंग सॉन्ग जरूर सुने। आप ऐसी माहौल में रिलैक्सिंग सॉन्ग सुनने की कोशिश करें जहां पर आपको कोई भी डिस्टर्ब ना करें और आपका पूरा ध्यान उस सॉन्ग पर रहे।

दोस्तों जब तानसेन अपनी गायकी से वर्षा करवा सकते थे तो क्या आप रिलैक्सिंग सॉन्ग सुनकर अपने मन को शांत नहीं रख पाओगे बस आपको अपने दिमाग को एकाग्र करने की आवश्यकता है और थोड़ा समय रिलैक्सिंग सॉन्ग सुनने की जरूरत है फिर आपका मन अपने आप ही शांत रहने लगेगा। यह काम आप को नियमित रूप से करना ही करना हैं।

यह भी पढ़ें

9. भविष्य को लेकर चिंतित ना हो

दोस्तों अपने भविष्य को लेकर चिंतित ना हो जैसे चिंता और चिता में सिर्फ एक बिंदु का ही अंतर है चिंता का मतलब होता है परेशानी और चिता का मतलब होता है चिता पर जल जाना दोस्तों हम आपको बता दें कि भविष्य को लेकर अगर आप चिंतित होते हो तो आपको उतना ही चिंतित रहना है जितना हर एक व्यक्ति को  अपने भविष्य को लेकर चिंता करना जरूरी होता हैं।

अगर आप अपने भविष्य को लेकर चिंतित रहोगे तो आप भविष्य को सुधारने के लिए कर्म नहीं कर पाओगे और जब आप कर्म नहीं करोगे तब आप अंदर से अशांत रहोगे। आप अपने भविष्य को बेहतर बनाने के लिए कर्म करें ना की चिंता। जब आप भविष्य को बनाने के लिए कर्म करोगे तो आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है बस आपको प्रसन्न चित्त मन से कार्य करना है और भविष्य को लेकर चिंतित नहीं होना हैं।

10. ईश्वर की प्रार्थना करे

दोस्तों अगर आप ईश्वर पर आस्था रखते हो तो बहुत ही अच्छा कार्य कर रहे हो। अगर आपको मन को शांत रखने का तरीका जानना है तो ईश्वर की प्रार्थना से बढ़कर मन को शांत रखने का कोई और बेहतर तरीका नहीं हो सकता है। ईश्वर की प्रार्थना में अपार शक्ति होती है और आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता हैं।

जब किसी व्यक्ति के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है तो अपने आप ही व्यक्ति का मन शांत रहने लगता है और वह हमेशा सही सोचता है इसीलिए उसके मन में कभी भी किसी भी विषय को लेकर चिंता नहीं होती है। हम आपको यही कहना चाहेंगे कि आप अपने मन को शांत रखने के लिए ईश्वर की प्रार्थना नियमित रूप से करें खासतौर पर प्रातः काल की ईश्वर की प्रार्थना काफी शान्तमय होती हैं।

यह भी पढ़ें

मन को शांत कैसे रखे? से संबंधित पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न

यहां पर हमने मन को शांत कैसे रखे? से संबंधित आप लोगों द्वारा पूछे जाने वाले कई अन्य महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए हुए है और एक बार आप इन प्रश्नोत्तर को भी जरूर पढ़ें।

Q. दिमाग को फ्रेश कैसे रखे?

दोस्तों अपने दिमाग को फ्रेश रखने के सबसे पहले आप सो जाएं जब आप सो कर उठेंगे तो आपके दिमाग को अच्छा फील होगा।

Q. हमेशा मन को शांत कैसे रखे?

मन को शांत रखने के लिए आप गहरी सास लेने की कोशिश करें और रोजाना एक्सरसाइज करें।

Q. मन शांत क्यों नहीं रहता है?

दोस्तों कुछ व्यक्तियों का मन शांत इसलिए नहीं रहता है क्योंकि उनके अंदर नेगेटिव शक्तियां उत्पन्न हो जाती है जिसके कारण उनका मन शांत नहीं रहता है।

Q. दिमाग की कमजोरी के क्या लक्षण होते है?

किसी भी व्यक्ति को अचानक से सर दर्द है उसके नसों में दर्द होने लगता है तो उसका कारण होता है दिमाग की कमजोरी।

निष्कर्ष

हमने आज के इस लेख में आप सभी लोगों को Man Ko Shant Kaise Rakhe के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आप लोगों के लिए हेल्पफुल साबित हुई होगी।

अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप जैसे ही अन्य लोगों को भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में आप के जरिए पता चल सके एवं उन्हें ऐसे ही रिलेशनशिप, फैमिली हुड और सेल्फ इंप्रूवमेंट से संबंधित लेख को पढ़ने के लिए कहीं और बार-बार भटकने की बिल्कुल भी आवश्यकता ना हो।

 अगर आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल करें और इसके अलावा अगर आपको किसी भी रिलेशनशिप से संबंधित स्पेशल टॉपिक की रिक्वेस्ट हमसे करनी है तो आप हमारी ऑफिशियल ईमेल आईडी ([email protected]) का यूज करके हमें टॉपिक की रिक्वेस्ट भेज सकते हो हम आपकी रिक्वेस्ट जरूर पूरा करेंगे।

Abhishek Maurya

मेरा नाम Abhishek Maurya है और मैं वाराणसी उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ। मैं इस ब्लॉग के ओनर के साथ-साथ हिंदी कंटेंट राइटिंग का भी काम करता हूँ। मुझे रिलेशनशिप के ऊपर लिखना बहुत ही अच्छा लगता है। अगर आपको हमारा पोस्ट अच्छा लगता है तो अपनी प्रतिक्रिया कमेंट में अवश्य दे। हमारी वेबसाइट को सपोर्ट करें क्योंकि यही हमारा सब कुछ है और आप लोगों के सपोर्ट से हमें सहयोग मिलेगा। हमारी वेबसाइट को आप अपने दोस्तों के साथ अपने सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।  

Leave a Reply