कम बोलने के (9+ फायदे) जानिए हिंदी में – कम बोलने के दिलचस्प फायदे जाने

आपने देखा होगा जो लोग खाली रहते है या फिर उन्हें पता नहीं होता है अपने जीवन में क्या करना है वह अक्सर लोगों से बेमतलब की बातें किया करते है और अपना समय व्यर्थ किया करते है। मगर कई सारे लोग ऐसे भी होते है जो सिर्फ आवश्यकता पड़ने पर ही बोलते है यदि आप भी उनमें से एक हो और आप जानना चाहते हो कि Kam Bolne Ke Fayde क्या हो सकते है तो आज आप हमारे इस महत्वपूर्ण लेख को शुरू से लेकर अंतिम तक पढ़े ताकि आपको कम बोलने के कुछ महत्वपूर्ण फायदों के बारे में पता चल सके।

कम बोलने के फायदे

कम बोलने से समाज में लोग आपकी बात को ध्यान से सुनते है, आपकी बातों को तवज्जो दी जाती है, आपको कोई भी नजरअंदाज नहीं कर सकता और इतना ही नहीं कम बोलने से आपके पास अपने काम को करने के लिए भी काफी ज्यादा समय रहता है कम बोलकर इन सभी फायदों का लाभ उठा सकते हैं।

दोस्तों हर एक इंसान को सिर्फ जरूरत के हिसाब से ही बोलना चाहिए ज्यादा बोलने से आप की वैल्यू नहीं रह जाती और समाज में लोग आपको बड़बोला भी बोलते है इसीलिए चलिए अब हम आपको कम बोलने के कुछ महत्वपूर्ण फायदों के बारे में बताते है और इसके लिए नीचे दी गई जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ें। 

1. कम बोलने से ज्ञान बढ़ता है

जब आप लोगों से कम बोलते हो और अपने काम से काम के लिए ही बोलते हो तब आपके पास ज्यादा से ज्यादा समय रहता है और आप किसी भी ज्ञान को अर्जित करने के लिए अपना समय लगा सकते हो। यदि आप ज्यादा लोगों से बिना मतलब बोलोगे तो आपका समय व्यर्थ होगा और कभी भी आप किसी भी नए चीज को सीखने में अपना समय नहीं लगा सकते। इसीलिए कहा जाता है कि कम बोलने से ज्यादा से ज्यादा ज्ञान बढ़ाया जा सकता है। 

2. पछतावा नहीं होता है

कम बोलने वाले की सबसे खास बात यह होती है कि वह कभी भी अपने लाइफ में पछतावा नहीं करते क्योंकि वह हमेशा महत्वपूर्ण बातों के बारे में ही बोलते है और वह फालतू बात कभी भी नहीं करते और जो लोग ज्यादा बात करते है अक्सर वे लोग ज्यादा बोलने के चक्कर में कुछ ऐसा बोल जाते है जिसका उन्हें आगे चलकर पछतावा भी होता है इसीलिए जितना जरूरी हो और जितने लोगों के बीच बोलने की आवश्यकता हो उतना ही बोले।

यह भी पढ़ें

3. आपकी बातों को गंभीरता से लिया जाता है

आपने देखा होगा जो लोग बहुत ही कम बोलते है या फिर जब उन्हें बोलने के लिए कहा जाता है तभी बोलते है ऐसे लोगों की बातों को लोग सुनना पसंद करते है और उनकी कही गई बातों पर गंभीरता से अमल भी किया जाता है। लोगों को लगता है कि आप आवश्यकता पड़ने पर ही बोलते हो इसीलिए आपकी बात को को सुनना चाहिए इसीलिए कम बोलना काफी फायदेमंद है।

4. कम बोलने से रिश्ते मजबूत होते है

कहते है कि रिश्ता मजबूत करने के लिए कम बोलना चाहिए। जी हां बिल्कुल सही बात है अगर आपको अपने घरेलू रिश्ते को मजबूत करके रखना है तो आपको लोगों की सुननी पड़ेगी और केवल आवश्यकता पड़ने पर ही बोलना होगा। कभी-कभी आपसी रिश्तो में ज्यादा बोलने से हम कुछ ऐसा बोल जाते है जिससे रिश्ते में खटास आ जाती है इसीलिए जितना जरूरी है उतना ही बोले। यदि आप घरेलू रिश्तो के मामले में आवश्यकता पड़ने पर ही बोलोगे तो यकीनन आप के घरेलू रिश्ते कभी भी नहीं टूटेंगे और भी हमेशा मजबूती से रहेंगे।

यह भी पढ़ें

5. थोड़े शब्द में बहुत कुछ बोलना

दोस्तों जो लोग कम बोलते है वह थोड़े ही शब्द में बहुत कुछ बोल जाते है क्योंकि ऐसे में इन लोगों के पास शब्दों की नालेज बहुत ही ज्यादा होती है और यह थोड़ी सी बात कर किसी को भी किसी भी चीज के लिए मोटिवेट कर देते है अगर आप भी थोड़े शब्द का इस्तेमाल करते हो तो आप भी इन लोगों जैसा बन सकते हो अगर आप अपनी लाइफ में कुछ बनना चाहते हो या फिर कुछ करके दिखाना चाहते हो तो ऐसे लोग बहुत ही कम बोलते है और अपने लाइफ में सक्सेज हो पाते है और आप इस तरीके से कम बोल कर चलाक साबित हो सकते हो।

6. कम बोलने से माइंड काफी अच्छा काम करता है

दोस्तों कम बोलने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप कोई भी चीज या फिर किसी भी चीज का जवाब पूरी जानकारी को समझने के बाद या फिर बातों को समझने के बाद ही कहते हो। इतना ही नहीं जो लोग कम बोलते है और दूसरों की बातों को सुनते रहते है वह लोग सबसे पहले बातों की गहराई को समझते है और पूरी तर्क लगाने के बाद ही कोई बात कहते हैं।

और उनकी बात कोई काट भी नहीं पाता क्योंकि उन्होंने तर्कता पूर्ण तरीके से शब्दों का प्रयोग करके कोई बात कही होती है। जब आप कम बोलते हो तब आपका माइंड किसी भी चीज को बड़ी ही गंभीरता से समझता है और इसी चीज का फायदा आपको किसी भी चीज को बोलने में मिलता हैं।

यह भी पढ़ें

7. कम बोलने से शरीर की ऊर्जा बचती है

क्या आपको पता है जो लोग ज्यादा बकबक करते रहते है उनकी बकबक से उनके शरीर की ऊर्जा भी काफी ज्यादा खपत होती है। यदि आप ऐसे व्यक्ति हो जिसे किसी भी कार्य को करने के लिए अपनी बुद्धिमता का काफी इस्तेमाल करना पड़ता हैं।

तब ऐसे में आपको केवल आवश्यकता पड़ने पर ही बोलना चाहिए और इसी से आप अपने शरीर की ऊर्जा बचाए रख सकते हो और अपने बुद्धिमता का इस्तेमाल अपने किसी काम में लगा सकते हो।

8. काम करने के लिए ज्यादा समय मिलता है 

जो लोग ज्यादा पर बड़बोले होते है उन्हें एक क्षण भी चुप रहना गवारा नहीं होता और वह हमेशा ऐसा ग्रुप ढूंढते रहते है जहां पर लोग बैठकर बेफिजूल की बातें किया करते है। अगर आपको भी ऐसे लोगों के बीच बैठना पसंद है तो आप अपना समय व्यर्थ कर रहे हो। 

आप इसी समय को किसी अच्छे कार्य में लगा सकते हो या फिर अपना भविष्य बनाने के लिए आप अपना लक्ष्य निर्धारित कर सकते हो। ज्यादा बातें करने की वजह सही जगह पर लगाना शुरू कर दो तो यकीनन आपको आपके जीवन का लक्ष्य भी आपको मिल जाएगा।

यह भी पढ़ें

9. नई स्किल इंप्रूव कर सकते है

यदि आप कम बोलते हो तो आप के पास काफी समय बचता है और आप अपने इस समय को कुछ नई स्किल सीखने के लिए लगा सकते हो। मान लो आपको किसी नए चीज के बारे में सीखना है तो आप लोगों से बेफिजूल की बातें करने बैठने के बजाए आप इंटरनेट पर कुछ नई स्किल सीखने के लिए अपना वही समय लगा सकते हो और हमेशा इंसान के अंदर एक या दो स्किल रहने ही चाहिए जिसके जरिए वे कहीं भी और कभी भी कुछ भी करके पैसे कमा सकता है और अपने जीवन को सक्सेसफुल बना सकता हैं।

10. खुद की वैल्यू बढ़ती है

यदि लोग आप की वैल्यू नहीं समझते और ना ही आपकी किसी बातों पर गौर देते है तब ऐसे में आपको अपनी वैल्यू बढ़ाने के लिए और लोगों को अपनी बातों की तरफ आकर्षित करने के लिए सबसे पहले कम बोलना सीखना होगा। जो लोग ज्यादा बोलने की बजाय कम बोलते हैं।

अक्सर ऐसे लोगों की वैल्यू समाज में काफी ज्यादा होती है क्योंकि लोगों को पता होता है बंदा तभी बोलेगा जब कोई बात गलत होगी या फिर कोई बात ज्यादा जरूरी होगी। इस प्रकार से आप खुद की वैल्यू भी बढ़ा सकते हो और लोगों को अपनी बातों को सुनने के लिए मजबूर भी कर सकते हो।

यह भी पढ़ें

कम बोलने के फायदे के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

यहां पर हमने कम बोलने के होने वाले फायदों के बारे में आप लोगों द्वारा पूछे जाने वाले कुछ महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर दिए हुए हैं। 

Q. कम बोलने वाले लोग कैसे होते हैं?

दोस्तों जो लोग कम बातें करते है वे लोग अपने कामों को बहुत ही अच्छे से कर पाते है और यह लोग अपने काम के बारे में बहुत ही अच्छे से डिस्कस कर पाते है इन लोगों की सबसे खास बात यह है कि ये लोग अपने बातों को खुलकर किसी से नहीं बताते और यह अपना पूरा समय अकेले ही बिताना अच्छा व्यतीत करते हैं।

Q. चुप रहना कैसे सीखे?

अगर आप शांत रहना चाहते हो और कंफर्टेबल महसूस करना चाहते हो तो ऐसे में आपको किसी भी चीज के लिए धैर्य रखने की कोशिश करनी चाहिए और आपको चुप रहने के लिए किताबों का इस्तेमाल करना चाहिए अगर आप किताब पढ़ते हो तो आप अपना समय बहुत ही अच्छे से बिता पाओगे और चुप रहना बहुत ही आसानी से सीख पाओगे।

Q. चुप रहने के लिए क्या करें?

अगर आप चुप रहने के लिए जानकारी हासिल करना चाहते हो ऐसे में आप इंटरनेट का सहारा ले सकते हो या फिर हमारे द्वारा ऊपर दी गई जानकारियों को शुरू से अंत तक पढ़ सकते हो आपको चुप रहने के लिए सभी रिक्वायरमेंट की जानकारी आपको बहुत ही आसानी से प्राप्त हो जाएगी।

Q. कम क्यों बोलना चाहिए?

अगर आप कम बोलते हो तो समाज में आप की वैल्यू होती है, आपको किसी भी चीज की आगे चलकर पछतावा नहीं होता है, आप किसी की भी बातों को बहुत ही अच्छे से सुन पाते हो और अपने रिलेशन को मजबूत कर पाते हो अब आप जान चुके होंगे कि हमें कम क्यों बोलना चाहिए।

निष्कर्ष

हमने अपने आज के इस महत्वपूर्ण लेख में आप सभी लोगों को Kam Bolne Ke Fayde के बारे में बेस्ट टिप्स प्रदान की हुई है और हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा प्रदान की गई यह जानकारी आप लोगों के लिए काफी ज्यादा यूज़फुल और हेल्पफुल साबित हुई होगी।

यदि आप लोगों को कम बोलने के फायदे के ऊपर प्रस्तुत किया गया हमारा यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सभी सोशल मीडिया हैंडल पर शेयर करना ना भूले ताकि आप के जरिए अन्य लोगों को इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता चल सके और उन्हें आगे ऐसे ही रिलेशनशिप एडवाइस, डेटिंग टिप्स और सेल्फ इंप्रूवमेंट से संबंधित महत्वपूर्ण लेख पढ़ने के लिए कहीं और बार-बार भटकने की आवश्यकता ना हो।

अगर आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स का इस्तेमाल करें और इसके अलावा अगर आपको किसी भी रिलेशनशिप से संबंधित स्पेशल टॉपिक की रिक्वेस्ट हमसे करनी है तो आप हमारी ऑफिशियल ईमेल आईडी (contact@hindibaatchit.com) का यूज करके हमें टॉपिक की रिक्वेस्ट भेज सकते हो हम आपकी रिक्वेस्ट जरूर पूरा करेंगे।

Abhishek Maurya

मेरा नाम Abhishek Maurya है और मैं वाराणसी उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ। मैं इस ब्लॉग के ओनर के साथ-साथ हिंदी कंटेंट राइटिंग का भी काम करता हूँ। मुझे रिलेशनशिप के ऊपर लिखना बहुत ही अच्छा लगता है। अगर आपको हमारा पोस्ट अच्छा लगता है तो अपनी प्रतिक्रिया कमेंट में अवश्य दे। हमारी वेबसाइट को सपोर्ट करें क्योंकि यही हमारा सब कुछ है और आप लोगों के सपोर्ट से हमें सहयोग मिलेगा। हमारी वेबसाइट को आप अपने दोस्तों के साथ अपने सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।  

Leave a Reply